Blogging

वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के 5 अमेजिंग तरीके

वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के 5 अमेजिंग तरीके – नमस्कार दोस्तों मैं आनंद गुप्ता आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से बात करने जा रहे हैं कि आप अपने वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के 5 अमेजिंग तरीके । अगर आप एक ब्लागर हैं और अभी आप ने हाल ही में अपने ब्लॉग या वेबसाइट बनाया है तो यह आर्टिकल आपके लिए पढ़ना बहुत ही जरूरी है।

क्योंकि हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपकी बहुत सारी समस्याओं का समाधान करेंगे। जब कोई ब्लॉगर अपने बिजनेस के लिए ब्लॉग या वेबसाइट बनाता है तो उसके लिए केवल एक ही टेंशन की बात होती है कि वह अपने ब्लॉग या वेबसाइट में ट्रैफिक कैसे लाएं। अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ऐसे 5 टिप्स बताएंगे जिनके माध्यम से आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक ला सकते हैं।

आज के टाइम में ब्लॉग और वेबसाइट बनाना तो बहुत आसान है। पर समस्या वहां आती है जब हमें ब्लॉग और वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक लाना होता है। एक ब्लॉगर के लिए सबसे बड़ी चैलेंज की बात होती है क्योंकि गूगल के सर्च इंजन से ऑर्गेनिक ट्रैक लाना एक बहुत बड़ी बात है। क्योंकि आपके सामने लाखों ऐसे Competitors होंगे जिनसे आपको आगे निकलना है। तभी आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में गूगल सर्च इंजन से अच्छा ट्रैफिक ला सकते हैं।

अगर आप भी चाहते हैं कि आपके ब्लॉग या वेबसाइट में गूगल के सर्च इंजन से ऑर्गेनिक ट्रैफिक आए तो आपको इसके लिए बहुत कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। इसके लिए आपको हमारे द्वारा बताए गए टिप्स को फॉलो कीजिए।

Google Adwords Kya Hai Aur Kaise Work Karta Hai

आइए अब चलते हैं इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताते हैं कि आप अपने वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के 5 अमेजिंग तरीके।

वेबसाइट में ट्रैफिक बढ़ाने के 5 अमेजिंग तरीके

अगर आप भी चाहते हैं कि आपके ब्लॉग या वेबसाइट में गूगल के सर्च इंजन से आधुनिक प्राची खाए तो आप हमारे द्वारा बताए गए इन 10 अमेजिंग तरीकों को फॉलो कीजिए।

Quality कंटेंट लिखें

अगर आप यह चाहते हैं कि आपका आर्टिकल गूगल के सर्च इंजन में रैंक हो। और गूगल के सर्च इंजन से ऑर्गेनिक ट्रैफिक आए तो इसके लिए आपकी ब्लॉग या वेबसाइट में क्वालिटी कंटेंट लिखना बहुत ही जरूरी है। अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट में क्वालिटी कंटेंट नहीं है तो आप अपने आर्टिकल को कभी भी रैंक नहीं करा सकते।

गूगल सर्च इंजन धीरे-धीरे अपने एल्गोरिथ्म में बहुत सारे चेंज करता जा रहा है। इसी चेंज में लेकर एक बात यह भी निकल के आई है कि जिस ब्लॉग वेबसाइट का कंटेंट बहुत हाई क्वालिटी का होता है गूगल उसी आर्टिकल को गूगल के सर्च इंजन में रैंक करने में मदद करता है।

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के सर्च इंजन में रैंक करे तो इसके लिए आपको अपने ब्लॉग और वेबसाइट में हाई क्वालिटी के कंटेंट लिखने होंगे।

रेगुलर पोस्ट लिखें

अगर आप यह चाहते हैं कि आपका और ब्लॉग वेबसाइट जल्द से जल्द गूगल के सर्च इंजन में रैंक हो। तो इसके लिए आपको सबसे पहले अपने ब्लॉग या वेबसाइट में रेगुलर पोस्ट अपडेट करने होंगे।

क्योंकि आज के टाइम में गूगल के एल्गोरिथ्म में बहुत ज्यादा चेंज आ गए हैं। गूगल आप उस ब्लॉग या वेबसाइट को ज्यादा अहमियत देता है जिस ब्लॉग या वेबसाइट में रेगुलर आर्टिकल अपडेट होते हैं।

अपने ब्लॉग या वेबसाइट में रेगुलर पोस्ट पब्लिश करने का सबसे बड़ा बेनिफिट यह भी होता है कि आपके वेबसाइट के जो रेगुलर ऑडियंस है उन्हें आपके नए आर्टिकल के आने का इंतजार रहता है। और अगर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में रेगुलर आर्टिकल पब्लिश्ड करेंगे तो ऑडियंस की आपके वेबसाइट के प्रति ट्रस्ट बढ़ता है और आपकी वेबसाइट में धीरे-धीरे ऑडियंस की संख्या भी बढ़ने लगती है।

बैकलिंक्स बनाएं

गूगल के सर्च इंजन में अपने ब्लॉग या वेबसाइट को रैंक कराने के लिए बैकलिंक्स एक अहम रोल निभाता है। बैकलिंक्स का मतलब यह होता है कि हम अपनी वेबसाइट के लिंक को दूसरे की वेबसाइट में ऐड करना। हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि हम अपनी वेबसाइट के आर्टिकल के लिए दूसरे वेबसाइट से बैकलिंक्स बनाएं।

एक बात आपको हरदम ध्यान रखनी है कि जब भी अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बैकलिंक्स बनाएं तो आपको बैकलिंक हरदम अपने आर्टिकल की बनानी है ना की वेबसाइट की। कहने का मतलब यह है कि आप जिस आर्टिकल को गूगल के सर्च इंजन में रैंक कराना चाहते हैं। आपको उस आर्टिकल के लिए बैकलिंक बनानी है।

बैकलिंक्स बनाते समय आपको एक बात का हरदम ध्यान रखना है कि जब भी आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बैकलिंक्स बनाएं तो आपको बैकलिंक्स हरदम हाई अथॉरिटी वाले वेबसाइट से ही बनानी है। और आपको एक बात और ध्यान रखना है कि आप जिस वेबसाइट से बैकलिंक बना रहे हैं उस वेबसाइट का Spam Score चेक करना बहुत जरूरी है। जिस वेबसाइट का Spam Score कम हो हमें उसी वेबसाइट से बैकलिंक्स बनानी चाहिए।

On Page Seo Kaise Kare – On Page Seo क्या है और हम उसे कैसे करें

बाउंस रेट कम करें

अगर आप भी अपने ब्लॉग या वेबसाइट के आर्टिकल को गूगल के सर्च इंजन में रैंक कराना चाहते हैं तो आपको एक बात का हरदम ध्यान रखना है कि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट ज्यादा ना होने दें।

जिस ब्लॉग या वेबसाइट का बाउंस रेट अधिक होता है गूगल उस ब्लॉग वेबसाइट को गूगल के सर्च इंजन में रैंक नहीं देता है। हाई बाउंस रेट का यह मतलब होता है कि यूजर आपके कंटेंट को पसंद नहीं कर रहे हैं।

अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट को बाउंस रेट बहुत अधिक है तो उसे आप जल्द से जल्द कम करने की कोशिश कीजिए। क्योंकि अगर यह बाउंस रेट आपकी वेबसाइट पर रेगुलर बना रहेगा तो आपकी वेबसाइट कभी भी गूगल के सर्च इंजन में रैंक नहीं कर पाएगी।

रेगुलर साइट प्रमोशन करें

साइट प्रमोशन आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बहुत ही जरूरी है। क्योंकि आपके ब्लॉग या वेबसाइट के आर्टिकल जितने ज्यादा लोगों द्वारा शेयर किए जाएंगे उतने ही आपके ब्लॉग या वेबसाइट का ट्रस्टेड ऑडियंस बढ़ता जाएगा। यह आपके ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बहुत ही जरूरी है।

आप सबसे पहले यह कोशिश करें कि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के आर्टिकल को सोशल मीडिया वेबसाइट पर रेगुलर शेयर करें। इसके लिए आप फेसबुक टि्वटर इंस्टाग्राम जैसी सोशल मीडिया वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

गूगल के सर्च इंजन में रैंक करने के लिए सोशल मीडिया वेबसाइट में अपनी वेबसाइट का प्रमोशन करना बहुत ही जरूरी है। क्योंकि हमें सोशल मीडिया वेबसाइट से ट्रस्टेड ऑडियंस मिलती है। और गूगल को भी यह भी मालूम होता है कि आपकी वेबसाइट और ब्लॉग को लोगों द्वारा पसंद किया जा रहा है।

वीडियो मार्केटिंग क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

निष्कर्ष

दोस्तों आज की इस पोस्ट में आप लोगों ने पढ़ा कि अपनी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के 5 अमेजिंग तरीके। हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आए थे 5 मास्टर टिप्स बताए हैं जिनको आप फॉलो करके आप अपनी वेबसाइट को गूगल के सर्च इंजन मे रैंक करा सकते हैं और वहां से आपको आपके वेबसाइट के लिए ऑर्गेनिक ट्रैफिक ला सकते हैं

अगर आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया हो और आप यह चाहते हैं कि ऐसे इंटरेस्टिंग आर्टिकल आपके लिए हम लाते रहे और यह आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो आप हमें कमेंट करके जरूर बता सकते हैं।

Tags
Sponsored Links

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close